स्टेज का डर कैसे दूर करें - How to overcome stage fear | 5 Tips in Hindi | Anchor Gaurav Sharma

 

स्टेज का डर कैसे दूर करें - How to overcome stage fear | 5 Tips in Hindi | Anchor Gaurav Sharma


पहले आप लोग मुझे एक बात बताइये?  कि आप लोग Stage पर आने से, Public Speaking से क्यो डरते हो?क्या वहाँ आपको कोई मरेगा? पिटेगा?  नहीं ना? फिर आप स्टेज पर आने से क्यो डरते हो? क्यो झिझकते हो? 

मुझे लगता हैं कि इसका Answer आपके पास भी नहीं हैं या फिर इसका Answer यह हैं कि आप Stage पर आने से नहीं डरते हो। आप डरते हो तो इस बात से कि आपकी Speech, Dance, Song या फिर जो कुछ भी आप स्टेज पर करने जा रहे हों वो अच्छे से नहीं हों पाया तो क्या होगा? लोग आपके बारे में क्या सोचेगे? 

अरे अच्छा या बुरा तो आपकी Performance खत्म के बाद ही पता चलेगा। उसके बारे में आप पहले ही सोचकर अपनी Performance क्यो खराब कर रहे हों? और एक बात आप लोग मेरी हमेशा याद रखना! आप जब भी अपने Cool mind से कोई Performance दोगे तो वो हमेशा Perfect ही होगी।अब रही ये बात कि लोग क्या सोचेगे?


अरे जो लोग हमेशा से ही Audience बन कर रहे हैं, जिन लोगो ने खुद ही कभी Stage पर आने की कोशिश नहीं की। आप लोग ही बताइये कि वे लोग क्या सोच सकते हैं? उन लोगो कि सोच कितनी होगी? वे लोग उतना ही सोच सकते हैं जितनी कि उनकी सोच हैं। मुझे नहीं लगता कि आप लोगो को उनके बारे में सोचने की भी कोई जरूरत हैं। और आगे आप लोगो की मर्जी हैं। 


आप लोग मेरी एक बात हमेशा याद रखना -


अगर आप एक अच्छे Speaker हैं तो आप दूसरों की तुलना में बहुत ही जल्दी और ज्यादा प्रगति कर सकते हैं।Public के सामने Stage पर अपनी बात रखना अधिकतर लोगा का Dream होता हैं लेकिन Stage के डर के कारण कही लोग अपना ये Dream पूरा नहीं कर पाते हैं। क्योकि उन लोगो के लिए अपने सपने से बड़ा ये डर होता हैं।

एक Research में बताया गया हैं कि जितना डर लोगो को अपनी Death होने से लगता हैं कुछ लोगो को लगभग उतना ही डर Stage से लगता हैं।अगर आप लोगो को भी Stage पर अपनी Performance देने से डर लगता हैं तो मैं आपको कुछ Tips बताती हूँ। अगर आप इन सभी Tips को Follow करते हैं तो एक-ना-एक दिन आप भी अपने Stage के डर से काबू पा लेंगे। वे Tips इस प्रकार हैं -

स्टेज का डर कैसे दूर करें - How to overcome stage fear 


1. अभ्यास करो (Practice):-     


सबसे पहले हमे Stage पर क्या Performance करनी हैं, कैसे करनी हैं इन सबकी Practice करनी होगी। हमे अपने Family, Friends, Relatives जिसे भी हम अपने सबसे ज्यादा Close मानते हैं। Stage पर जाने से पहले हमे उन लोगो को अपनी Speech, Dance, Song जो भी हम Stage पर Perform करने वाले हैं उन्हे एक या दो बार दिखा देने चहाइए। 

वे लोग हमे बता देगे कि हमारी Performance कहाँ Strong जा रही हैं और कहाँ weak जा रही हैं। इससे हमे अपनी गलतियों का पता चलेगा और हम अपनी Performance को और बेहतर कर सकते हैं।हम लोग अकेले में Mirror देखकर या फिर अपने Bed या सोफ़े को Stage मानकर भी बहुत अच्छी Practice कर सकते हैं। ऐसा करने से हमारा Confidence अपने ऊपर और ज्यादा बढ़ जाएगा।


2. स्वयं की आवाज रिकॉर्ड करें (Record your own voice):- 


हम लोग स्वयं की आवाज को Video Recorder में Record करके अपने Expression, अपनी Body Language और अपनी गलतियों को अच्छे से Notice कर सकते हैं। अगर हम लोग अपनी Video देखकर खुद ही Bore हो रहे हैं तो हमारी Speech या फिर जो कुछ भी हम Perform कर रहे हैं सामने वाली Audience को कैसे अच्छा लग सकता हैं?
  
अपनी खुद की Video और आवाज Record करके हमे अपनी गलतियों का आसानी से पता लगा सकते हैं और अपनी गलतियों को सुधारकर अपनी Performance को और ज्यादा Interesting बना सकते हैं। ऐसा करने से हमारी होने वाली गलतियों के Chances कम हो जाते हैं और हमारी Audience को हमारी Performance बहुत अच्छी लगती हैं।


3. छोटे स्तर से शुरू करें (Start Small):-  


हम लोगो को Starting में ही बड़ी Performance प्रस्तुत नहीं करनी चहाइए। हमारी जितनी बड़ी Performance होगी, हम लोगो को Stage पर जाने से उतना ही ज्यादा डर लगेगा। हमारी Performance जितनी ज्यादा छोटी होगी उतनी ही कम हमे Stage पर जाने से घबराहट होगी। इसलिए शुरुवात में ह्मे अपनी Performance को छोटा ही रखना चहाइए। हमारी Audience और Judge ये नहीं देखते हैं कि हमने कितनी बड़ी और कितनी छोटी Performance प्रस्तुत कि हैं। वे तो बस हमारी Performance की Quality देखते हैं।


4. दर्शकों के बारे में न सोचे (Dont think about the audience):-  


हम जब भी अपनी Performance दे रहे हो तो हमे कभी भी ये नहीं सोचने चहाइए कि हमारी Audience हमारे बारे में क्या सोच रही होगी? उन्हे हमारी Performance कैसी लग रही होगी? उन्हे हम अच्छे तो लड़ रहे होंगे ना आदि बाते हमे बिल्कुल भी नहीं सोचनी चहाइए। ना ही Performance शुरू होने से पहले और नहीं ही Performance देते हुए हमे ये सब बाते सोचनी चहाइए। Performance खत्म होने के बाद हमे इन सब बातों को सोचने का काफी Time मिल जाएगा

अगर हम अपनी Performance देने से पहले और देते वक़्त और कुछ सोचने के अलावा सिर्फ और सिर्फ अपनी Performance पर ही Focus करे तो हमारी Performance को Best होने से कोई नहीं रोक सकता हैं।


और असल में देखा जाए तो हमे Stage पर जाने से नहीं बल्कि Audience के सामने आने से डर लगता हैं/ हमे डर लगता हैं कि हमारी Audience हमारे बारे में क्या सोच रही होगी, उन्हे हमारी Performance कैसी लग रही होगी, वे मन ही मन में हमारे ऊपर हँस तो नहीं रहे होगे आदि बातों से हमे डर लगता हैं।


अगर हम Audience के बारे में कुछ सोचे ही ना तो हमारा लगभग डर खत्म ही हो जाता हैं। हमे यह सोचने की कोशिश करनी चहाइए कि यहाँ कोई भी नहीं बैठा हैं, ना ही कोई Audience और ना ही कोई Judge बैठे हैं। फिर हमारा डर भी खत्म हो जाएगा और हमारी Performance भी सबसे Best होगी।


5. स्टेज पर जाने का कोई भी मौका ना छोड़े(Do not miss any opportunity to go on stage):-  


हमे बचपन से ही School, Colleges में Stage पर जाकर अपनी बात रखने का मौका मिलता हैं। अलग-अलग तरह की Performance प्रस्तुत करने के Chances मिलते हैं। हमे जब भी Stage पर जाकर अपनी बात रखने को मौका मिले, हमे वह मौका कभी भी नहीं छोड़ना चहाइए। चाहे वह मौका हमे School, College या फिर किसी Temple में ही क्यों ना मिले हमे वह मौका बिल्कुल भी नहीं खोना चहाइए। 

 

मैं जानती हूँ कि आपको आपकी Life में Stage पर आने के अब तक काफी Chances मिले होंगे। और कुछ Chances का आपने Use किया होगा और Chances खो दिये होंगे। कुछ Chances आपने Stage के डर के कारण और कुछ Chances आपने आपका Interest ना होने के कारण खो दिये होगे। लेकिन जो बीत गया सो बीत गया।


हमे अब Present की सोचनी चहाइए। हमे अब आगे जो भी मौका मिले Stage पर आकर अपनी बात रखने का हमे वो बिल्कुल भी नहीं खोना चहाइए। क्योकि हम जितना ही ज्यादा Stage पर जाकर अपनी Performance प्रस्तुत करने की हिम्मत करेगे, हमारा Stage का डर उतना ही कम होता चला जाएगा।

If you have any doubts. Please let me know

Post a comment (0)
Previous Post Next Post